नारियल कई मायनों में हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है। इसका सीधे ही सेवन किया जाए तब भी अच्छा म.....
 
जादू-टोने में ऎसे फायदा करता हैं नारियल
नारियल कई मायनों में हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है। इसका सीधे ही सेवन किया जाए तब भी अच्छा माना जाता है। नारियल का उपयोग कर कैसे तांत्रिक बाधाओं से बच सकते हैं, आज हम आपको बताते है। किसी के द्वारा किया गया टोना-टोटका या फिर बुरी नजर से बचाने के लिए नारियल बेहद उपयोगी माना गया है।

कहते हैं कि हिन्दू शास्त्रों को अनुसार नारियल बेहद पवित्र फल है, यह सात्विक है इसलिए इसे पूजा सामग्री में अवश्य शामिल किया जाता है। कोई भी पूजा नारियल के प्रयोग के बिना अधूरी मानी गई है। नारियल उस पूजा को संपूर्ण करने के लिए ही बना है, क्योंकि अंत में इसी को तोडकर इसके पवित्र जल से भक्तों पर छिडकाव किया जाता है। शास्त्रीय विधा के अनुसार नारियल में उच्च पैमाने पर सकारात्मक शक्ति मौजूद होती है। जिस पूजा में नारियल मौजूद हो, वहां विघ्न आना असंभव माना गया है।

यह नारियल आसपास के वातावरण को नकारात्मक ऊर्जा से मुक्ति दिलाता है क्योंकि इसके पास आते ही हर प्रकार की बुरी ऊर्जा नष्ट हो जाती है। ऎसी मान्यता है कि स्वयं नारियल की जटाओं में ही सकारात्मक वातावरण को बनाए रखने की भरपूर शक्ति होती है। लेकिन यदि आप बुरी नजर की बाधा को दूर करने के लिए नारियल का प्रयोग करने जा रहे हैं तो ऎसे में इन जटाओं को हटाने की सलाह दी जाती है। क्योंकि जटाओं से कई गुणा अधिक शक्ति नारियल के मुख्य भाग में ही मौजूद होती है।

नारियल में मुसीबत किस प्रकार हैं उपयोगी : ऎसा क्यों माना जाता है! दरअसल एक नारियल में रज-तम जैसी शक्तियों का मौजूद होना माना गया है। यह शक्ति तरंगों के रूप में नारियल के अंदरूनी भाग में मौजूद होती हैं, जो हर प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा को काटने का काम करती है। कुछ विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि बुरी नजर हटाने में प्रयोग होने वाले अन्य तरीकों में सबसे सर्वश्रेष्ठ नारियल का उपयोग ही है। क्योंकि इसकी सात्विक ऊर्जा अन्य किसी भी वस्तु से कई गुना अधिक है।

कैसे करे उपयोग : यदि आप भी नारियल के प्रयोग से बुरी नजर जैसी बाधाओं से बचना चाहते हैं तो पहले जान लें कि कैसे प्रयोग करना है इसे। जिस व्यक्ति पर बुरी नजर का साया पडा है उसे स्वयं नहीं, बल्कि किसी अन्य के हाथों यह काम कराना चाहिए। लेकिन स्वयं भगवान मारूति से प्रार्थना करनी चाहिए कि "भगवान कृपा करके मुझ पर आई बुरी नजर की बाधा को दूर कर दें। मेरे शरीर के अंदर या आसपास भी मौजूद किसी भी प्रकार की बुरी तरंगों को मुझसे दूर कर दें।" इस प्रार्थना को करते समय नारियल को किस रूप में प्रयोग करना है, यह भी जानना बेहद जरूरी है। इसलिए ध्यान रहे कि जिस नारियल का आप पर प्रयोग बुरी नजर को उतारने वाला कर रहा है वह उसकी सभी जटाएं स्वयं हटा दे। ताकि नारियल अपने साधारण स्वरूप में उनके पास मौजूद होना चाहिए। यह नारियल इस समय उसके हाथ में होना चाहिए जो बुरी नजर से पीडित व्यक्ति की नजर उतारने वाला है। इस व्यक्ति को नारियल को अपने दोनों हाथों में पकडना है, जिस तरह से हम प्रसाद लेते समय अपने दोनों हाथ जोडकर सामने की ओर फैलाते हैं ठीक इसी प्रकार से नारियल को अपने हाथों में रखना है। नारियल का जो तिकोना भाग है उसका मुख उस व्यक्ति की ओर हो जिसे नजर लगी है। और वह व्यक्ति स्वयं भी इसी गुच्छे वाले तिकोने भाग को देख रहा हो।

अब इसके बाद नजर उतारने वाले इंसान को नारियल को पकडकर सामने वाले इंसान के ऊपर से लेकर नीचे तक घडी की दिशा में घुमाना है। यानि कि सिर से लेकर पांव तक कुल तीन बार घुमाना है। इसके बाद जिसे नजर लगी है, उसी के आसपास तीन बार परिक्रमा करनी है। ध्यान रहे कि परिक्रमा के दौरान नजर उतारने वाले को नारियल का तिकोना गुच्छे वाला भाग पकडकर रखना है।

यदि आप उपरोक्त दिए सभी निर्देश बखूबी निभा लेते हैं तो इसके बाद आप नारियल को खत्म कर सकते हैं। इसे या तो आप राह में उस जगह पर फोड सकते हैं जहां तीन रास्ते आकर मिल रहे हों। या फिर आप इसे भगवान मारूति के ही मंदिर में जाकर तोड सकते हैं। लेकिन यह नारियल टूट जाए, यह जरूरी है। लेकिन यदि आपको लगे कि बुरी नजर से पीडित व्यक्ति कुछ अधिक ही परेशानी में है तो नारियल को तोडने की बजाय आप इसे बहते पानी में बहा भी सकते हैं। इसके लिए आप किसी नदी या आसपास के जल स्त्रोत का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि उस जलसत्रोत का पानी बह रहा हो, एक जगह स्थिर ना हो।

यदि बताए दोनों ही तरीके अपनाने में असमर्थ हैं तो आप भगवान मारूति की एक तस्वीर लेकर उसके सामने पूरे मन से प्रार्थना करें। और अंत में नजर उतारने के लिए इस्तेमाल हुए नारियल को ठीक तस्वीर के सामने फोड दें। Posted at 23 Apr 2020 by admin
FACEBOOK COMMENTES
  Share it --