हिन्दू धर्म मान्यताओं में हनुमानजी रुद्र अवतार, रामदूत होने के साथ अजर-अमर देवता माने गए हैं कल.....
 
चमत्कारी हनुमान तांत्रिक मंत्र
हिन्दू धर्म मान्यताओं में हनुमानजी रुद्र अवतार, रामदूत होने के साथ अजर-अमर देवता माने गए हैं कलियुग में वे भक्तों के आस-पास ही मौजूद होते हैं और किसी भी रूप में की गई भक्ति का शुभ फल जल्द देते हैं।

हनुमान भक्ति के लिए तंत्र शास्त्रों में कई ऐसे मंत्र हैं, जो कार्यसिद्धि में बहुत असरदार हैं। शनिवार और मंगलवार को हनुमान तांत्रिक मंत्र से मंगलकारी काम संपन्न होते है।

सवेरे स्नान करें। लाल वस्त्र पहनकर सिंदूर चढ़ी दक्षिणामुखी हनुमान मूर्ति की पूजा गंध, सिंदूर, अक्षत, जनेऊ के साथ खासतौर पर लाल धागे में गुंथी लाल गुलाब या फूलों की माला चढ़ाकर करें। हनुमानजी को यथाशक्ति गुड़ से बने पकवानों का भोग लगाएं।

पूजा के बाद लाल आसन पर बैठ

ऊं नमो हनुमन्ते भय भंजनाय सुखं कुरु कुरु फट् स्वाहा

इस तांत्रिक मंत्र का स्मरण या जप करें।

तंत्र शास्त्रों के मुताबिक इस मंत्र का 160 दिनों तक हर रोज 1008 बार जाप करने से लक्ष्यसिद्धि प्राप्त होती है। शनिवार या मंगलवार को इस मंत्र का जाप 108 बार करने से मनचाहे काम पूरे होते है।

मंत्र जप या स्मरण के बाद हनुमानजी की आरती करें। प्रसाद ग्रहण करें। हनुमानजी को चढ़ाया थोड़ा सा सिंदूर मस्तक पर लगाने के साथ उससे घर के देवालय या द्वार के आस-पास श्रीराम लिखें या स्वस्तिक बनाएं। यह संकटमोचन करने वाला उपाय है। Posted at 23 Apr 2020 by admin
FACEBOOK COMMENTES
  Share it --