एक्यूप्रेशर का नाम कभी सूना होगा आपने । हमारे शरीर मे कई पॉइंट होते है जिन पर दवाब से कई समस्याओ .....
 
एक्यूप्रेशर और ह्रदय रोग
एक्यूप्रेशर का नाम कभी सूना होगा आपने । हमारे शरीर मे कई पॉइंट होते है जिन पर दवाब से कई समस्याओ से मुक्ति मिलती है । हम रोज सुबह घूमने जाते है लेकिन यदि हम सिर्फ 10 मिनिट थोड़ी पथरीली जमीन जिस पर बारीक छोटे कंकर हो चले तो पावों मै कंकर से एक्यूप्रेशर होता है और कई बीमारी से मुक्ति मिलती है। जानते हो की पुराने जमाने मे लोग खड़ाऊ क्यों पहनते थे क्योंकि खड़ाऊ से अंगूठे और उसके बाद की ऊँगली मे एक्यूप्रेशर से याने दवाब से कई बिमारी से मुक्ति मिलती है ।मेने कंही पढ़ा भी था की खड़ाऊ पहनकर चलने से थायराइड से भी निजात मिलती है ।

यदि आपके आसपास किसी को हर्ट अटैक पड़ रहा हो तो तुरन्त उसके कान दबाईये अगर आपके सामने कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे ब्लोकेज की वजह से हर्ट अटैक पड़ने की शुरुआत हो रही हो तो तुरन्त आप उसके कान की लर (कान के नीचे का बिना हड्डी का हिस्सा, जहाँ भारतीय महिलाएं कान में छेद करवाकर बाली पहनती हैं) को दबाना शुरू कर दीजिये, ऐसा करने से उस व्यक्ति को रिलीफ मिलना शुरू हो जायेगा और फिर उस व्यक्ति को पास के अस्पताल मे जल्दी पहुचाने की व्यवस्था करे ।

कान की लर में हर्ट को काफी फायदा पहुचाने वाला एक्यूप्रेशर पॉइंट होता है पर इस पॉइंट को दबाने का फायदा तभी तक मिलता है जब तक हर्ट अटैक पड़ा ना हो, बल्कि उसकी शुरुआत हो |

अगर रोज रोज आदमी पूरे शरीर की विधिवत मालिश शुद्ध सरसों के तेल से करे और मालिश करते समय कान के भी इस पॉइंट को दबाये तो ह्रदय रोगों से काफी हद तक बचा जा सकता है |

Posted at 23 Apr 2020 by admin
FACEBOOK COMMENTES
  Share it --