१ * प्याज के रस में नौसादर मिलाकर बिच्छू के डंक पर लगाने से विष उतरता है। २ * हल्दी की बुकनी अंगों .....
 
यदि बिच्छू डंक मारे तो
१ * प्याज के रस में नौसादर मिलाकर बिच्छू के डंक पर लगाने से विष उतरता है।
२ * हल्दी की बुकनी अंगों पर डालकर उसका धुआं बिच्छू के डंक वाले स्थान पर देने से जहर उतरता है।
३ * इमली का बीज कच्चा या गर्म करके सेंका गया हो। फिर आप उस बीज को तब तक घिसें जब तक उसका सफेद भाग न दिखाई देने लगे। आप इमली के इस बीज को खूब घिसें, घिसने से उस पर चढ़ी काली महरून परत हट जाएगी और उसका सफेद भाग दिखने लगेगा। घिसने से बीज अत्याधिक गर्म हो जाएगा। आपको यही गर्म सफेद भाग बिच्छू के डंक पर चिपकाना है। इमली का यह बीज बिच्छू का सारा जहर खींचकर स्वत: नींचे गिर जाएगा।
४ * पुदीने का रस पीने अथवा उसके पत्ते खाने से बिच्छू के काटने से होने वाली पीड़ा में आराम मिलता है।
५ * रतालू के रस में नौसादर मिलाकर बिच्छू के डंक पर लगाने से बिच्छू का जहर उतरता है। रतालू सूखा हो तो भी चलेगा। आप सूखे रतालू को भी घिस कर लगा सकते हैं। लाभ होगा।

चूहे के काटने पर
१ * चौलाई के मूल का तीन ग्राम चूर्ण दिन में तीन चार बार शहद के साथ खाने से चूहे का जहर दूर होता है।
२ * चूहे के काटने पर खराब हुए खोपरे को मूली के रस के साथ घिस कर घाव पर लेप करें। आपको फाएदा होगा।

यदि कुत्ता काट ले तो
१ * जंगली चौलाई की जड़ १२५ ग्राम लेकर पीस लें और पानी के साथ बार बार रोगी को पिलाएं। इससे कुत्ते के काटने से पागल हुए रोगी को बचाया जा सकता है।
२ * प्याज का रस और शहद मिलाकर पागल कुत्ते के काटने से हुए घाव पर लगाने से जहर उतरता है।
३ * लाल मिर्च पीसकर तुरंत घाव में भर दें। इससे कुत्ते का जहर जल जाता है और घाव भी जल्दी ठीक हो जाता है।
४ * हींग को पानी में पीस कर लगाने से पागल कुत्ते के काटने से हुए घाव का जहर उतर जाता है।

यदि सांप ने काटा हो तो
१ * हींग को अरंड की कोपलों के साथ पीसकर चने के बराबर गोलियां बनाइए तथा सांप के काटने पर दो – दो गोली आधे – आधे घंटे पर गर्म पानी के साथ देने पर लाभ होता है।
२ * सांप के काटने पर सौ से दो सौ ग्राम शुद्ध घी पिलाकर उल्टी कराने से सांप के विष का असर कम होता है। घी पिलाने के १५ मिनट बाद कुनकुना पानी अधिक से अधिक पिलाएं इससे तुरंत उल्टियां होने लगेंगीं और सांप का विष भी बाहर निकलता जाएगा।
३ * सांप के काटने पर ५० ग्राम घी में १ ग्राम फिटकरी पीसकर लगाने से भी जहर दूर होता है।
४ * अरहर की जड़ को चबा – चबा कर खाने से सांप का जहर कम हो जाता है।

यदि ततैया काटे
१ * ततैया या बर्रे ने काटा हो तो उस स्थान पर खटटा अचार या खटाई मल दें। जलन खत्म हो जाएगी।
२ * काटे हुए स्थान पर फौरन मिटटी का तेल लगाएं। जलन शांत हो जाएगी।
३ * ततैया के काटने पर उस स्थान पर नींबू का रस लगाएं। सूजन और दर्द चला जाएगा।

कुछ अन्य जीवों के काटने पर क्या करें?
१ * मधुमक्खी के डंक पर सोआ और सेंधा नमक को चटनी बनाकर लेप करने से दर्द दूर हो जाता है।
२ * मकड़ी के काटने पर अमचुर को पानी में मिलाकर घाव पर लगाएं। आराम मिलेगा।
३ * कनखजूरे के काटने पर प्याज और लहसुन पीसकर लगाने से उसका जहर उतर जाता है।
४ * छिपकली के काटने पर सरसों का तेल राख के साथ मिलाकर घाव पर लगाने से जहर दूर होता है।

चींटी, मधुमक्खी व ततैया काटने पर
१ * यदि आपको किसी चींटी, मधुमक्खी या ततैया ने काटा हो, तो आप घर में मौजूद कोलगेट या कोलगेट जैसा अन्य कोई पेस्ट (जिसमें मिंट की मात्रा ज्यादा हो) लगाएं। आपको तुरंत आराम मिलेगा। इससे जलन व सूजन दोनों ही ठीक हो जाते हैं। Posted at 23 Apr 2020 by admin
FACEBOOK COMMENTES
  Share it --