कोलाइटिस एक भयंकर रोग है जिसको आसानी से नही ढिक किया जा सकतां, आंतो मे जब अल्सर या व्रण होने के का.....
 
आंतो की सुजन ( कोलाइटिस) का अनुभूत रामबाण इलाज
कोलाइटिस एक भयंकर रोग है जिसको आसानी से नही ढिक किया जा सकतां, आंतो मे जब अल्सर या व्रण होने के कारन अल्सरेटिव कोलाइटिस का भयंकर रुप ले सकते है.

एक प्रकार के कोलाइटिस मे केवल डिसेन्ड्री ( मरडा) की स्थिती होती है जिसमे मल की प्रबल इच्छा होती है किंतु मल आता नही है़ आैर जलन एवं ददॅ होतां है.

दुसरी स्थिती मे व्रण के साथ-साथ सुजन भी आती है, मल के साथ रक्त भी आतां है, यह स्थिती भयंकर स्थिती होती है जिसका जल्दी उपचार करानां चाहिये.

*कोलाइटिस,आंतो का जख्म, सुजन, डिसेन्डरी का आयुॅवैदिक इलाज*

▪प्रवाल पिष्टी 10 ग्राम
▪कामदूधा रस 30 ग्राम
▪पंचाम्रृत पपॅटी 10 ग्राम
▪नागकेसर चूरन 50 ग्राम
▪दाडिमाष्टक चूरन 50 ग्राम
▪मुलेढी चूरन 50 ग्राम
▪ सौंठ 20 ग्राम
▪ इन्द जौ 50 ग्राम
▪पुनॅनवा मंडुर. 30 ग्राम

उपर बताइ गइ सारी चिजे आपको आयुॅवैदिक स्टोर एवं आैषधिया आपको पंसारी की दुकान से मिल जायेगी. सभी चिजो को मिक्स करके चूरन बनाकर सुबह शाम 3-3 ग्राम लिजिय. अगर बकरी के दूध से ले तो बढिया रहता है , ना मिलने की स्थिती मे गुनगुने पानी के साथ ले सकते है.

म्युकल कोलाइटिस, अल्सरेटिव कोलाइटिस , पेप्टीक अल्सर, पेट फूलनां, गेस्ट्रीयाटिस्ट, अम्लपित्त, पाचनतंञ से जुडी समस्या के इलाज एवं कोरियर द्वारा मंगवाने हैतु हमारे नंबर पर संपकॅ करे.

*डॉ.प्रयाग डाभी*
*9909991653* Posted at 30 Oct 2018 by admin
FACEBOOK COMMENTES
  Share it --