find your lifes related every questions, answer by Shree Raam Shalaka.
 
प्रभु श्रीरामजी का स्मरन करके, अपना सवाल मन मे लाकर, इस चीत्र पर क्लीक करे। 
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
                             
चौपाईः

बिधि बस सुजन कुसंगत परही।
फनि मनि सम निज गुन अनुसरहीं।।

व्याख्याः यह चौपाई बालकांड के प्रारंभ में सत्संग वर्णन के प्रसंग की है.

निष्कर्षः इसका अर्थ है कि बुरे लोगों का साथ छोड़ दें. इस कार्य में सफलता मिलनी मुश्किल है. इसलिए अच्छे लोगों को साथ लें और उनके सहयोग से प्रभु का नाम लेते हुए कार्य आरंभ करें तो हो सकता है कि काम बन भी जाए.