bhartiya sanskriti and hindu religion related devotional and inspiral contents for devotion like story, shri raamcharit manas, shrimad bhagwat geeta all in hindi language
 
दया का फल
एक बार भगवान विष्णु जी शेषनाग पर बेठे बेठे बोर हो गये, ओर उन्होने धरती पर घूमने का विचार मन में किया, वेसे भी कई साल बीत गये थे धरती पर आये, ओर वह अपनी यात्रा की तेयारी मे लग गये, स्वामी को तैयार हो..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

पाप-कर्म का फल
एक राजा ब्राह्मणों को लंगर में महल के आँगन में भोजन करा रहा था .... राजा का रसोईया खुले आँगन में भोजन पका रहा था .... उसी समय एक चील अपने पंजे में एक जिंदा साँप को लेकर राजा के महल के उपर से गुजरी .... तब..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

लक्ष्मीजी कहाँ रहती हैं?
एक बूढे सेठ थे। वे खानदानी रईस थे, धन-ऐश्वर्य प्रचुर मात्रा में था परंतु लक्ष्मीजी का तो है चंचल स्वभाव। आज यहाँ तो कल वहाँ!! सेठ ने एक रात को स्वप्न में देखा कि एक स्त्री उनके घर के दरवाजे से नि..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

आस्था व विश्वास तथा कामना रहित भक्ति
ग्रामीण अंचल में स्थित एक गाँव में एक धार्मिक प्रवृति के पंडित जी निवास करते थे| गाँव के निकट ही एक छोटा सा जंगल था ,जिसमे एक पक्का कुआ बना हुआ था,व उसपर पानी खीचने के लिए एक बाल्टी रखी रहती थी ,पं..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

सुखों की परछाई
एक रानी अपने गले का हीरों का हार निकाल कर खूंटी पर टांगने वाली ही थी कि एक बाज आया और झपटा मारकर हार ले उड़ा. चमकते हीरे देखकर बाज ने सोचा कि खाने की कोई चीज हो. वह एक पेड़ पर जा बैठा और खाने की कोश..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

वृंदा कैसे बनी तुलसी
पौराणिक काल में एक थी लड़की। नाम था वृंदा। राक्षस कुल में उसका जन्म हुआ था। वृंदा बचपन से ही भगवान विष्णु जी की परम भक्त थी। बड़े ही प्रेम से भगवान की पूजा किया करती थी। जब वह बड़ी हुई तो उनका ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

पाप-पुण्य की कसौटी
प्रभात के घर आज गुरुदेव आने वाले थे। गुरुदेव का सम्मान प्रभात का पूरा परिवार करता है। गुरुदेव ने ज्यों ही उनके मुख्य द्वार पर अपने चरण कमल रखे तभी वहीँ पास में बैठा प्रभात का पालतू कुत्ता बुले..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

श्रद्घा और विश्वास
एक समय अयोध्या के पहुंचे हुए संत श्री रामायण कथा सुना रहे थे। रोज एक घंटा प्रवचन करते कितने ही लोग आते और आनंद विभोर होकर जाते। साधु महाराज का नियम था रोज कथा शुरू करने से पहले [b]"आइए हनुमंत जी ब..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

क्यों करता है भारतीय समाज बेटियों की इतनी परवाह...
एक संत की कथा में एक बालिका खड़ी हो गई। चेहरे पर झलकता आक्रोश... संत ने पूछा - बोलो बेटी क्या बात है? बालिका ने कहा- महाराज हमारे समाज में लड़कों को हर प्रकार की आजादी होती है। वह कुछ भी करे, कहीं भ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

सबसे बड़ा प्रेम
तुलसी के एक पत्ते में कैसे बिक गए भगवानभगवान श्रीकृष्ण की पत्नी सत्यभामा को अपने रूप पर बड़ा गर्व था. उन्हें लगता था कि रूपवती होने के कारण ही श्रीकृष्ण उनसे अधिक स्नेह रखते हैं. एक दिन नारद..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

जैसा अन्न वैसा मन
बासमती चावल बेचने वाले एक सेठ की स्टेशन मास्टर से साँठ-गाँठ हो गयी। सेठ को आधी कीमत परबासमती चावल मिलने लगा।सेठ को हुआ कि इतना पाप हो रहा हैतो कुछ धर्म-कर्म भी करना चाहिए।एक दिन उसने बासमती च..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

सफल जीवन
एक बेटे ने पिता से पूछा - पापा ये 'सफल जीवन' क्या होता है ? पिता, बेटे को पतंग उड़ाने ले गए। बेटा पिता को ध्यान से पतंग उड़ाते देख रहा था... थोड़ी देर बाद बेटा बोला, पापा.. ये धागे की वजह से पतंग और ऊप..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

वसुदेव — देवकी का विवाह
वसुदेव जी ज्ञानी और गुणवान थे। देवकी कंस की चचेरी बहन थीं। कंस देवकी से बहुत प्रेम करता था। अतः उसने वसुदेव जी के गुणों को विचार कर धूम-धाम से देवकी का विवाह उनके साथ कर दिया। विवाह के बाद जब क..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

तीन सीखें
एक राजा के तीन पुत्र थे। एक दिन राजा के मन में आया कि पुत्रों को कुछ ऐसी शिक्षा दी जाये की समय आने पर वो राज-काज सम्भाल सकेंराजा ने सभी पुत्रों को बुलाकर कहा कि हमारे राज्य में नाशपाती का कोई वृ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

सौ ऊंट
किसी शहर में, एक आदमी प्राइवेट कंपनी में जॉब करता था। वो अपनी ज़िन्दगी से खुश नहीं था, हर समय वो किसी न किसी समस्या से परेशान रहता था। एक बार शहर से कुछ दूरी पर एक महात्मा का काफिला रुका। शहर में ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

टेढ़े कान्हा
एक बार की बात है - वृंदावन का एक साधू अयोध्या की गलियों में राधे कृष्ण - राधे कृष्ण जप रहा था। अयोध्या का एक साधू वहां से गुजरा तो राधे कृष्ण राधे कृष्ण सुनकर उस साधू को बोला - अरे जपना ही है तो सी..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

श्री कृष्ण जन्मोत्सव (जन्माष्टमी) विषेश
[b][i]।।वासुं करोति इति वासुः।।[/b][/i]जो सब में बस रहा हो, वास कर रह हो उस सच्चिदानंद परमात्मा का नाम है 'वासुदेव'। भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी भगवान वासुदेव का प्राकट्य महोत्सव है। भगवान व..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

लक्ष्मी beti
इसे शांत चित्त से पढिए। हर लडकी के लिए प्रेरक कहानी, और लड़कों के लिए अनुकरणीय शिक्षा. कोई भी लडकी की सुदंरता उसके चेहरे से ज्यादा दिल की होती है। अशोक भाई ने घर मेँ पैर रखा....‘अरी सुनती हो !' आवा..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

भगवान के दर्शन
एक राजा था। वह बहुत न्याय प्रिय तथा प्रजा वत्सल एवं धार्मिक स्वभाव का था। वह नित्य अपने इष्ट देव की बडी श्रद्धा से पूजा-पाठ और याद करता था। एक दिन इष्ट देव ने प्रसन्न होकर उसे दर्शन दिये तथा कह..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

संतुष्टि
ऑफिस से निकल कर शर्माजी ने स्कूटर स्टार्ट किया ही था कि उन्हें याद आया, पत्नी ने कहा था,१ दर्ज़न केले लेते आना। तभी उन्हें सड़क किनारे बड़े और ताज़ा केले बेचते हुए एक बीमार सी दिखने वाली बुढ़िया दिख ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

दो घड़ी धर्म की
एक नगर में एक धनवान सेठ रहता था। अपने व्यापार के सिलसिले में उसका बाहर आना-जाना लगा रहता था। एक बार वह परदेस से लौट रहा था। साथ में धन था, इसलिए तीन-चार पहरेदार भी साथ ले लिए। लेकिन जब वह अपने नग..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

क्रोध के दो मिनट
एक युवक ने विवाह के बाद दो साल बाद परदेस जाकर व्या पार की इच्छा पिता से कही. पिता ने स्वीकृति दी तो वह अपनी गर्भवती को माँ-बाप के जिम्मे छोड़कर व्यापार को चला गया। परदेश में मेहनत से बहुत धन कमाया...........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

संवेदनशीलता
एक पोस्टमैन ने एक घर के दरवाजे पर दस्तक देते हुए कहा,"चिट्ठी ले लीजिये।"अंदर से एक बालिका की आवाज आई,"आ रही हूँ।"लेकिन तीन-चार मिनट तक कोई न आया तो पोस्टमैन ने फिर कहा,"अरे भाई!मकान में कोई है क्या,..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

क्यों भगवान श्री कृष्ण ने सुदर्शन चक्र से जला कर भस्म कर दिया था काशी को?
यह कथा द्वापरयुग की है जब भगवान श्रीकृष्ण के सुदर्शन चक्र ने काशी को जलाकर राख कर दिया था। बाद में यह वाराणसी के नाम से प्रसिद्ध हुआ। यह कथा इस प्रकार हैः मगध का राजा जरासंध बहुत शक्तिशाली और ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

जैसा अन्न , वैसा मन
एक परिवार मे 4 सदस्य थे ।पति-पत्नी दो बच्चे थे ।सभी एक साथ बाजार गए । बाजार खत्म करने के बाद वापसी के समय जिस रास्ते से आ रहे उसी रास्ते से कुछ लोग मृत शरीर (लाश) ले के जा रहे थे ।बच्चे थोड़े चंचल ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

सच्चा सन्यास
एक व्यक्ति प्यास से बेचैन भटक रहा था. उसे गंगाजी दिखाई पड़ी. पानी पीने के लिए नदी की ओर तेजी से भागा लेकिन नदी तट पर पहुंचने से पहले ही बेहोश होकर गिर गया. थोड़ी देर बाद वहां एक संन्यासी पहुंचे. उ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

अटूट बंधन
यमुना नदी के किनारे फूस की एक छोटी से कुटिया में एक बूढ़ी स्त्री रहा करती थी। वह बूढ़ी स्त्री अत्यंत आभाव ग्रस्त जीवन व्यतीत किया करती थी। जीवन-यापन करने योग्य कुछ अति आवश्यक वस्तुयें, एक पुरान..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

भक्त का मान
भगवान अपने भक्तो से बहुत प्रेम करते है।भगवान ने गीता में भी कहा है की "जो मुझे याद करता है, मैं भी उसे याद करता हूँ।"भगवान कहते है कि "जहाँ मेरा भक्त पैर रखता है, उसके पैर रखने से पहले में हाथ रख..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

धर्म कभी खत्म नहीं होता
पाण्डवो का अज्ञातवाश समाप्त होने मे कुछ समय शेष रह गया था। पाँचो पाण्डव एवं द्रोपदी जंगल मे छूपने का स्थान ढूढं रहे थे, उधर शनिदेव की आकाश मंडल से पाण्डवों पर नजर पडी शनिदेव के मन मे विचार आया क..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

दान सबसे बड़ा धर्म
एक समय वाराणसी नगरी में धनेश्वर नाम का एक वैश्य रहता था। वह पूजा पाठ और ब्राह्मणों की सेवा करने में बहुत रुचि रखता था। उसका एक बेटा भी था नगर के प्रमुख स्थान पर उसकी एक दूकान थी जिससे वह आजीविका..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

भलाई व धर्म कर्म
प्राचीन काल में कांचीपुरी बहुत मशहूर और संपन्न शहर था. इस नगरी में एक चोर रहता था जिसका नाम था वज्र. वज्र अपने काम में बहुत माहिर था. बड़ी बड़ी चोरियां तो वह करता ही, छोटी मोटी पर भी हाथ साफ करने म..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

प्रभु के रिश्तेदार
एक वृद्धा जो कि फल बेचकर अपना गुजारा करती थी और प्रभू भक्ति मे लिन रहती थी। परन्तु वह मन से खुश नहीं थी क्योकि कभी कभी फल ना बीकने के कारण उसे तंगी का भी सामना करना पड़ता था। इसलिये वह हमेशा सोचा क..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

ब्रह्मचारी बन्दर
ऋतु आने पर बन्दर और बन्दरियों के जोड़े यत्र-तत्र जंगल में आमोद-प्रमोदरत रहते; किन्तु यह बन्दर उन सबसे अलग-थलग आश्रम के सामने एक वृक्ष पर बैठा रहता था। बड़े सवेरे ही वह बन्दर पहाड़ से उतरकर महाराजज..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

बेटी और बहु
एक वकील साहब ने अपने बेटे का रिश्ता तय किया।कुछ दिनों बाद, वकील साहब होने वाले समधी के घर गए तो देखा कि होने वाली समधन खाना बना रही थीं।सभी बच्चे और होने वाली बहु टी वी देख रहे थे। वकील साहब ने ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

समय रहते भजन करो
दो बहने चक्की पर गेहूं पीस रही थी पीसते पीसते एक बहन गेहूं के दाने खा भी रही थी। दूसरी बहन उसको बीच बीच में समझा रही थी। देख अभी मत खा घर जाकर आराम से बेठ कर चोपड़ कर चूरी बनाकर खायेंगे लेकिन फिर भ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

मृत्यु
भगवान विष्णु गरुड़ पर बैठ कर कैलाश पर्वत पर गए। द्वार पर गरुड़ को छोड़ कर खुद शिव से मिलने अंदरचले गए। तब कैलाश की अपूर्व प्राकृतिक शोभाको देख कर गरुड़ मंत्रमुग्ध थे कि तभी उनकी नजरएक खूबसूरत छ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

हनुमानजी और भीम
वनवास के दौरान पांडव जब बदरिकाश्रम में रह रहे थे, तभी एक दिन वहां उड़ते हुए एक सहस्त्रदल कमल आ गया। उसकी गंध बहुत ही मनमोहक थी। उस कमल को द्रौपदी ने देख लिया। द्रौपदी ने उसे उठा लिया और भीम से क..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

क्षमा और प्रेम
महात्मा तिरुवल्लुवर कपड़े बुनकर अपनी आजीविका चलाते थे। एक दिन संध्या के समय उनके पास एक उद्दंड युवक आया और एक कपड़े का दाम पूछने लगा। संत ने बताया-बीस रुपये। युवक ने उस कपड़े के दो टुकड़े कर द..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

इंसान के कर्म
भगवान ने नारद जी से कहा आप भ्रमण करते रहते हो कोई ऐसी घटना बताओ जिसने तम्हे असमंजस मे डाल दिया हो| नारद ने कहा प्रभु अभी मैं एक जंगल से आ रहा हूं, वहां एक गाय दलदल में फंसी हुई थी। कोई उसे बचाने वाल..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

प्रेमी भक्त
कुछ ऐसे भक्त होते हैं जिनके लिये प्रभु कहते है कि "मैं इनका ऋणी रहूँगा क्योंकि वे प्रीति करते हैं पर माँगते कुछ नहीं।"ऐसे हैं प्रभु जो भक्त की प्रीति में क्या-क्या नहींकर देते लेकिन अपनी भनक ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

भगवान की गवाही
बांके बिहारी के ये चमत्कार उनके भक्तों को बनाते हैं मुरीद !!!!! एक गरीब ब्राह्मण बांके बिहारी का भक्त था, एक बार उसने किसी महाजन से कुछ रुपये उधार लिए, हर महीने वह थोड़ा-थोड़ा करके कर्ज चुकाया, आख..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

एक चुटकी ज़हर रोजाना
गीता नामक एक युवती का विवाह हुआ और वह अपने पति और सास के साथ अपने ससुराल में रहने लगी. कुछ ही दिनों बाद गीता को आभास होने लगा कि उसकी सास के साथ पटरी नहीं बैठ रही है. सास पुराने ख़यालों की थी और बहू ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

किसान का बैल
एक दिन एक किसान का बैल कुएँ में गिर गया वह बैल घंटों ज़ोर -ज़ोर से रोता रहा और किसान सुनता रहा और विचार करता रहा कि उसे क्या करना चाहिऐ और क्या नहीं। अंततः उसने निर्णय लिया कि चूंकि बैल काफी बूढ..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

Load More...