Find here all Vrit-upwas tithi wise, day wise, date wise and all kind of kathas, and stories (like: sunday, monday, tuesday and chaturthi, ekadashi, punam etc.) in hindi.
 
प्रदोष व्रत की कथा
प्राचीन काल में एक विधवा ब्राह्मणी अपने पुत्र को लेकर भिक्षा लेने जाती और संध्या को लौटती थी। एक दिन जब वह भिक्षा लेकर लौट रही थी तो उसे नदी किनारे एक सुन्दर बालक दिखाई दिया जो विदर्भ देश का रा..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

करवा चौथ व्रत कथा
महिलाऒं के अखंड सौभाग्य का प्रतीक करवा चौथ व्रत की कथा कुछ इस प्रकार है- एक साहूकार के सात लड़के और एक लड़की थी। एक बार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को सेठानी सहित उसकी सातों बहुएं और..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

श्री सत्यनारायण व्रत कथा
।।पहला अध्याय।।श्रीव्यास जी ने कहा - एक समय नैमिषारण्य तीर्थ में शौनक आदि सभी ऋषियों तथा मुनियों ने पुराणशास्त्र के वेत्ता श्रीसूत जी महाराज से पूछा - महामुने! किस व्रत अथवा तपस्या से मनोवा..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

जन्माष्टमी व्रत कथा
स्कन्दपुराण के मतानुसार जो भी व्यक्ति जानकर भी कृष्ण जन्माष्टमी व्रत को नहीं करता, वह मनुष्य जंगल में सर्प और व्याघ्र होता है। ब्रह्मपुराण का कथन है कि कलियुग में भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष क..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

नृसिंह जयंती व्रतकथा
हिन्दू पंचांग के अनुसार नृसिंह जयंती का व्रत वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। पुराणों में वर्णित कथाऒं के अनुसार इसी पावन दिवस को भक्त प्रहलाद की रक्षा करने के लिए भग..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

भाई दूज कथा
भाई-बहन के अटूट प्रेम और स्नेह के प्रतीक का पर्व भाई दूज की कथा इस प्रकार से है-छाया भगवान सूर्यदेव की पत्नी हैं जिनकी दो संतान हुई यमराज तथा यमुना. यमुना अपने भाई यमराज से बहुत स्नेह करती थी. व..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin

हरतालिका तीज व्रत कथा
कथानुसार मां पार्वती ने अपने पूर्व जन्म में भगवान शंकर को पति रूप में प्राप्त करने के लिए पर्वतराज हिमालय पर गंगा के तट पर अपनी बाल्यावस्था में अधोमुखी होकर घोर तप किया. इस दौरान उन्होंने अन्..........
Posted at 15 Nov 2018 by admin